इन्दौर को मिली रेल्वे संबंधी अनेक सौगातें

0
10

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन व रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेल्वे संबंधी विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया :
इन्दौर (ए)। रेल्वे विकास के क्षेत्र में आज मालवा अंचल के लिये विशेष तथा बड़ा दिन रहा। आज इन्दौर में आयोजित गरिमामय कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, रेल मंत्री पीयूष गोयल तथा सामाजिक न्याय तथा अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत की विशेष उपस्थिति में इन्दौर तथा आसपास के क्षेत्रों के लिये रेल्वे संबंधी विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर इन्दौर तथा आसपास के क्षेत्रों के लिये अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएँ हुई। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में महापौर श्रीमती मालिनी गौड़, इन्दौर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष शंकर लालवानी, धार की सांसद श्रीमती सावित्री ठाकुर, उज्जैन के सांसद चिंतामन मालवीय, विधायकगण सुश्री उषा ठाकुर, महेन्द्र हार्डिया, सुदर्शन गुप्ता, भाजपा नगर अध्यक्ष कैलाश शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि विशेष रूप से मौजूद थे।
इंदौर के रेल्वे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में अतिथियों ने इंदौर-देवास-उज्जैन रेल्वे लाइन के दोहरीकरण कार्य की आधारशिला रखी। साथ ही लक्ष्मीबाई नगर-रतलाम रेल्वे लाइन विद्युतीकरण कार्य की आधारशिला रखी गई। साथ ही डॉ. अम्बेडकर नगर स्टेशन महू में कोचिंग काम्पलेक्स, सोलर प्लांट, इंदौर के रेल्वे स्टेशन पर दो एस्केलेटर्स तथा दो लिफ्ट और एलईडी प्रकाश व्यवस्था कार्य के लोकार्पण एवं शिलान्यास भी हुए।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने कहा कि मालवा क्षेत्र, विशेषकर इन्दौर में नववर्ष के उपलक्ष्य में ढेरों सौगातें मिली हैं। अम्बेडकर नगर महू के क्षेत्र में रेल्वे सुविधाओं के विकास संबंधी जो घोषणाएँ हुई हैं, उससे इस क्षेत्र का सही मायने में विकास होगा। उन्होंने कहा कि इन्दौर में रेल्वे संबंधी सुविधाओं के विकास होने से मालवा-निमाड़ क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव आयेगा। उन्होंने कहा कि राऊ स्टेशन को जंक्शन के रूप में विकसित किया जायेगा। इन्दौर-दाहोद रेल्वे लाइन के लिये महू तक पेरेलल लाइन डालने की तैयारी करने के निर्देश भी उन्होंने दिये। उन्होंने कहा कि स्वीकृत कार्यों को शीघ्र पूरा किया जाये। इन्दौर तथा मालवा क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विकास के लिये केन्द्र सरकार से भरपूर सहयोग मिल रहा है। इस सहयोग से मालवा सहित पूरे प्रदेश का तेजी से विकास हो रहा है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में रेल्वे के क्षेत्र में जो विकास हो रहा है, उससे नई इबारत लिखी जा रही है। केन्द्र और राज्य मिलकर नया इतिहास लिख रहे हैं। सबका साथ, सबका विकास का जो मंत्र है, वह अब मालवा अंचल में साकार हुआ है। रेल्वे सुंविधाएँ बढ़ने से मालवा अंचल में पर्यटन का विस्तार होगा। उद्योग निवेश बढ़ेगा। डॉ. अम्बेडकर नगर स्टेशन का विकास, मील का पत्थर साबित होगा। डॉ. अम्बेडकर नगर (महू) पर स्टेशन बनने से गाड़ियों का विस्तार होने की संभावना बनेगी। रेल्वे के विकास के लिये केंद्र सरकार भरपूर सहयोग कर रही है और रेलवे भी प्रतिवर्ष निवेश की राशि बढ़ा रहा है। वर्ष 2014-15 में रेल्वे ने निवेश राशि बढ़ा कर 4206 करोड़ पर कर दी है। इसके बाद 2016-17 में यह राशि बढ़ाकर 5376 करोड़ रूपये कर दी। 2017-18 में निवेश राशि को बढ़ाकर 6359 करोड रूपये पर कर दी है। इस प्रकार हर साल रेलवे निवेश की राशि बढ़ा रहा है। उन्होंने कहा कि इन्दौर-मनवाड़ रेल्वे लाइन का काम भी जल्द शुरू होगा। इन्दौर रेल्वे स्टेशन को राजवाड़े के स्वरूप में बनाये जाने की घोषणा का स्वागत किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इन्दौर स्वच्छता, बेहतर सुविधाओं, शिक्षा, स्वास्थ्य, व्यापार, उद्योग, कला, साहित्य एवं संस्कृति के क्षेत्र में देश में विशिष्ट पहचान रखता है। हमारा प्रयास है कि इसकी पहचान रेल्वे के क्षेत्र में भी विशिष्ट रूप में हो, इसके लिये यहाँ तेजी से काम करने की जरूरत है। उन्होंने इन्दौर, अम्बेडकर नगर महू, रतलाम सहित आसपास के क्षेत्रों के लिये रेल सुविधाओं को सुदृढ़ बनाने के संबंधी विभिन्न महत्वपूर्ण घोषणाएँ की। घोषणाएँ करते हुए उन्होंने कहा कि रतलाम से डेमू ट्रेन अब सुबह साढ़े 5 बजे की जगह साढ़े 6 बजे चलाई जायेगी। इस ट्रेन में 8 कोच की जगह 12 कोच किये जाएंगे। ग्वालियर से इन्दौर तक चलने वाली ट्रेन रतलाम तक चलाने का निर्णय भी लिया गया है। इन्दौर से पूना जाने वाली ट्रेन खाचरौद स्टेशन पर भी रूकेगी। इन्दौर से रतलाम होकर दिल्ली जाने वाली स्पेशल ट्रेन पूरे वर्ष नियमित रूप से सामान्य ट्रेन की तरह चलाने के प्रयास किये जाएंगे। इन्दौर से पटना तक चलने वाली ट्रेन सप्ताह में एक बार की जगह दो बार चलायी जाने का निर्णय लिया गया है। बैंगलोर से इन्दौर आने वाली, जयपुर से इन्दौर आने वाली, बरेली से इन्दौर आने वाली मालवा एक्सप्रेस ट्रेनें अम्बेडकर नगर महू तक चलाये जाने का निर्णय भी लिया गया है। उन्होंने कहा कि बाबा साहब अम्बेडकर की जन्मस्थली अम्बेडकर नगर महू के रेल्वे स्टेशन का विकास 30 करोड़ रूपये की राशि खर्च कर किया जायेगा। इस रेल्वे स्टेशन को टर्मिनल के रूप में विकसित किया जायेगा। बाबा साहब अम्बेडकर के व्यक्तित्व तथा कृतित्व को चिरस्थायी बनाने के लिये अम्बेडकर नगर महू स्टेशन में संरचना बनाने पर भी विचार किया जा रहा है। साथ ही अम्बेडकर नगर महू स्टेशन पर एस्केलेटर लिफ्ट लगाने, फुट ब्रिज बनाने सहित अन्य यात्री सुविधाओं का विकास किया जायेगा। उन्होंने घोषणा की कि राजवाड़े के स्वरूप में इन्दौर रेल्वे स्टेशन का स्वरूप बनाया जायेगा। इसके लिये उन्होंने सुझाव भी आमंत्रित किये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here