मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाए सरकार-सुब्रमण्यन स्वामी

0
9

नई दिल्ली (ए)। राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खत लिखा है। स्वामी ने कहा है कि कांग्रेस से प्रभावित वकील अपने अजेंडे के तहत इस केस में अड़ंगा डाल रहे हैं ऐसे में इस पर अध्यादेश लाने की आवश्यकता है।
स्वामी ने लिखा है कि सरकार रामजन्मभूमि जमीन के मालिकाना हक पर अध्यादेश ला सकती है। स्वामी ने कहा है कि इसपर अध्यादेश के जरिए कानून बनाकर जमीन को आगम शास्त्र में निपुण धर्मगुरुओं के संगठन को सौंपा जाए, ताकि राम मंदिर का निर्माण हो सके। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर अंतिम सुनवाई चल रही है। आगम शास्त्र हिंदू धर्म के पूजा-पाठ, मंदिर निर्माण, अनुष्ठान के नियमों का एक संकलन है। स्वामी ने अपने खत में लिखा है कि कानून बनने की स्थिति में जमीन के मालिकाना हक पर दावा जताने वाले दूसरे पक्षों को हुए नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए मुआवजा दिया जा सकता है। स्वामी के अनुसार कांग्रेस से प्रभावित वकील इस केस की प्रगति में अड़ंगा डालने के अजेंडे पर चल रहे हैं। ऐसे में संविधान और कानून को अपना हथियार बनाने की जरूरत है। ज्ञात रहे कि अयोध्या मामले में टाइटल विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में तमाम पक्षकारों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की हुई है। अयोध्या के विवादास्पद ढांचे को लेकर हाई कोर्ट ने जो फैसला दिया था उसके बाद तमाम पक्षों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की गई थी यह याचिका सुप्रीम कोर्ट में 6 साल से लंबित है। पिछले साल 26 फरवरी को बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी को इस मामले में पक्षकार बनाया गया था। स्वामी ने राम मंदिर निर्माण के लिए याचिका दायर की थी। स्वामी का दावा है कि इस्लामिक देशों में किसी सार्वजनिक स्थान से मस्जिद को हटाने का प्रावधान है और उसका निर्माण कहीं और किया जा सकता है। मामले में मुख्य पक्षकार हिंदू महासभा, सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड आदि हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here